Sunday, April 11, 2021
Home ख़बरें जयनगर-वर्दीवास रेलखंड पर रेलवे सम्पति का नुकसान रुक नहीं रहा

जयनगर-वर्दीवास रेलखंड पर रेलवे सम्पति का नुकसान रुक नहीं रहा

जयनगर-वर्दीवास रेलखंड पर ट्रेन का परिचालन शुरू होने से पूर्व रेलवे ट्रैक व स्टेशन में लगे सामान की चोरी होने का मामला प्रकाश में आया है। जयनगर-जनकपुर रेलखंड पर स्थित कई स्टेशन और हॉल्ट से उपद्रवियों एवं शरारती तत्वों ने विभिन्न प्रकार के सामान चुरा लिए हंै। जयनगर से मात्र दो किमी की दूरी पर नेपाली स्टेशन इनरवा स्थित है। वहां भी नेपाल के अज्ञात चोरों ने रेलवे की संपति को गायब कर दिया है।

नेपाल के इनरवा स्टेशन पर ही एक जोड़ी डीएमयू ट्रेनों को रखा गया है। यही डीएमयू ट्रेन जयनगर-जनकपुर भाया कुर्था तक दौड़ेगी। चोरों के आतंक से भारतीय रेल प्रशासन और नेपाल सरकार भी परेशान है। नेपाल स्थित स्टेशनों में सबसे अधिक परवाहा स्टेशन पर चोरो ने क्षति पहुंचाई है। स्टेशन के मुख्य द्वार पर लगे लोहे का ग्रिल गेट, स्टेशन भवन में लगी खिड़की, पंखा, शीशा, यात्रियों के बैठने के लिए बनाए गए बेंच की टाइल्स, वाटर स्टैंड में लगा नल और टोटी पर चोरों ने हाथ साफ कर दिया है। इसके अलावा खजुली, महिनाथपुर समेत अन्य स्टेशन और हॉल्ट पर भी चोराें ने सिग्नल के सामान के साथ अन्य सामान को गायब कर दिया है। रेलवे के आधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 20 हजार से अधिक रेल पटरी में लगे लोहे का क्लिप खोलकर चोरों ने गायब कर दिया है। रेल पटरी में लगने वाले 900 ग्राम के क्लिप की कीमत करीब 100 रुपए होती है।

बता दें कि वर्दीवास रेलखंड पर जयनगर-जनकपुर भाया कुर्था तक 34 किमी तक ट्रेन की ट्रायल भी हो चुका है। कोंकण जिसे ट्रेन परिचालित करना है, वह भी पूरी तरह से तैयार है। लेकिन नेपाल की ओर से हरी झंडी दिखाने में लेट किए जाने से जयनगर-वर्दीवास रेलखंड शोभा की वस्तु जैसी बन गई है। लेेकिन अब इस पर उपद्रवियों और शरारती तत्वों की नजर है। चोरी करते हुए पकड़े जाने पर दी जाएगी पांच साल जेल की सजा इरकॉन और कोंकण जहां तक संभव है वहां तक तो देखरेख कर ही रही है।

लेकिन चोरों के आतंक को देखते हुए अब नेपाल प्रशासन भी इस दिशा में पहल शुरू कर दी है। नेपाली के विशेष सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नेपाल की एपीएफ भी सुरक्षा की ख्याल से इसपर नजर रखेगी। सूत्रों ने बताया की चोरी करते पकड़े जाने पर नेपाल प्रशासन चोर को पांच साल की सजा दे सकती है। इरकॉन के जीएम रवि सहाय और कोंकण के अधिकारी एनके वर्मा ने बताया कि नेपाल के अज्ञात चोरों द्वारा रेल ट्रेक पर लोहे की बनी क्लिप, सिग्नल में लगे सामान व स्टेशन तथा भवन में लगे पंखे, शीशे, लोहे का बना ग्रिल गेट, जाली खिड़की, टाइल्स के अलावा अन्य सामान को चुरा लिया गया है। निर्माण एजेंसी पुनः इसके निर्माण कार्य में जुट गई है। इरकॉन ने सुरक्षा के लिए नेपाल से मांगा सहयोग, लिखा पत्र उपद्रवियों और शरारती तत्वों से रेलवे ट्रैक, भवन और स्टेशन में लगे सामान की सुरक्षा को लेकर निर्माण एजेंसी इरकॉन ने नेपाल सरकार को एक पत्र लिखा है। पत्र के माध्यम से नेपाल की सरकार से रेलवे की संपति की पूरी सुरक्षा सुनिश्चित करने का आग्रह किया गया है। खजुली, महिनाथपुर अाैर हाॅल्ट पर भी चाेराें ने सिग्नल का सामान चुराया जयनगर-वर्दीवास रेलखंड पर स्टेशन पर काटा गया गेट।

Source : Dainik Bhaskar

Most Popular

Recent Comments