Wednesday, April 14, 2021
Home ख़बरें जुलाई 2019 में ही जयनगर ओवरब्रिज का निर्माण कार्य पूरा करना था...

जुलाई 2019 में ही जयनगर ओवरब्रिज का निर्माण कार्य पूरा करना था ,साल 2020 के अंत तक सिर्फ 10 परसेंटेज हुआ काम

जयनगर ससमय ओवर ब्रिज का निर्माण रेल प्रशासन द्वारा नही किये जाने से करीब दो सालों से बॉर्डर के लोगो को प्रति दिन जटिल समस्याओ का सामना करना पड़ रहा है। अभी तक 10 से 15 फिसदी निर्माण कार्य ही ओवर ब्रिज का पूरा हुआ है। शहर के शहीद चौक गुमती हमेशा बन्द रहने एवं ओवर ब्रिज का निर्माण नही होने के कारण एनएच 105 से होकर शहर में प्रवेश करने वाले लोगो को करीब दो किमी दूरी अधिक तय करना पड़ रहा है।

रेलवे आधिकारिक सूत्रों के अनुसार जुलाई 2019 में ही ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य पूरा हो जाना था। निर्माण कार्य बहुत ही धीमी गति से किये जाने को लेकर संवेदक को अल्टीमेटम भी दिया गया था। यदि निर्माण कार्य मे तेजी नही लाया जाएगा तो टेंडर वापस ले लिया जाएगा। लेकिन रेल प्रशासन के द्वारा इसे गम्भीरता से नही लेने के कारण संवेदक मनमौजी करते रहे। मार्च 2019 तक ओवर ब्रिज निर्माण कार्य धीमी होने के पीछे रेल प्रशासन संवेदक का लापरवाही बता रहे थे। इसके बाद कोरोना के कारण निर्माण कार्य बन्द बताया गया।

जबकि कोरोना काल मे भी सरकार की निर्माण कार्य शुरू था। अब अनलॉक डाउन में ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य धीमी होने के पीछे रेल प्रशासन फंड का अभाव बता रहे है। वास्तविक कारण जो भी हो लेकिन ओवर ब्रिज का निर्माण नही होने से प्रति दिन हजारो लाखो लोग समस्या झेलने को लेकर मजबूर है।
2.25 करोड़ की लागत से निर्माण होगा :-
2.25 करोड़ की ओवर ब्रिज निर्माण का टेंडर समस्तीपुर आदर्श बिल्डर कंस्ट्रक्शन को मिला है। शहीद चौक के नजदीक निर्माण हो रही ओवर ब्रिज 250 मीटर लंबा और सिर्फ चार मीटर चौड़ा होगा। छोटा ओवर ब्रिज का निर्माण रेल प्रशासन के द्वारा किये जाने से बॉर्डर के विभिन्न स्वयं सेवी संस्थाओं के द्वारा विरोध कर चुके है।


6 माह के अंदर निर्माण पूरा नही तो आंदोलन :-
ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य बहुत ही धीमी गति से एवं रुक रुक कर किये जाने के कारण कई स्वयं सेवी संस्था एवं बॉर्डर के लोगो मे रेल प्रशासन एवं संवेदक के विरुद्ध काफी आक्रोश है। वे आंदोलन करने के मूड में है।
जदयू नेता सह मुख्य पार्षद कैलाश पासवान :- ने बताया की यदि पांच माह में ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य पूरा नही किया गया तो रेल प्रशासन एवं संवेदक के विरुद्ध आंदोलन किया जाएगा


चन्द्रवीर सिंह :- ने बताया की रेल प्रशासन की लापरवाही के कारण संवेदक मनमौजी चरम पर है। जिसका दंश आम लोग भुगतने को लेकर मजबूर है।
भाजपा नेता उद्धव कुँवर व रमेश झा :- ने संयुक्त रूप से बताया की सरकार रेलवे में तेजी से विकास को लेकर कटिबद्ध है। लेकिन प्रशासन एवं संवेदक की मिलीभगत के कारण अभी तक सिर्फ 10 से 15 फिसदी कार्य पूरा हुआ है। मई तक यदि निर्माण कार्य पूरा नही किया गया तो रेल प्रशासन एवं संवेदक के विरुद्ध आंदोलन किया जाएगा।
कहते है अधिकारी :-
समस्तीपुर के सीनियर इंजीनियर बी के गुप्ता ने बताया की मार्च तक फंड उपलब्ध हो जाएगा। संवेदक को निर्माण कार्य मे तेजी लाने का निर्देश दिया गया है। नये साल मई जून तक ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य पूरा हो|

सुनील कुमार (दैनिक भास्कर से ) की खबर

Most Popular

Recent Comments