Wednesday, April 14, 2021
Home ख़बरें नये साल में जयनगर - वर्दीवास ( नेपाल ) रेलखंड पर दोस्ती...

नये साल में जयनगर – वर्दीवास ( नेपाल ) रेलखंड पर दोस्ती की ट्रेन की परिचालन शुरू होने की तैयारी

जयनगर
कोरोना से बेपटरी हुई जिंदगी बॉर्डर क्षेत्रो में पुनः पटरी पर लौटने लगे है। अनलॉक के बाद नये साल में जयनगर – वर्दीवास ( नेपाल ) रेलखंड पर दोस्ती की ट्रेन की परिचालन शुरू होने की उम्मीदे जग गई है। खासकर 2021 बिहार और नेपाल के लिए लक्की साबित होगा। भारतीय एवं नेपाली ब्रॉडगेज जुड़ जाने से पहली बार जयनगर कुर्था भाया जनकपुर के बीच बड़ी ब्रॉडगेज पर ट्रेन तेज गति से दौड़ेगी। रेल ट्रैक एवं स्टेशन के अलावा सारी चीजें तैयार है। एक जोड़ी ट्रेन डीएमयू भी इनरवा में लगी है। ट्रेन परिचालन को लेकर भारतीय कोंकण एजेंसी एवं नेपाल सरकार के बीच एग्रीमेंट पेपर पर संयुक्त रूप से हस्ताक्षर होते ही जयनगर कुर्था भाया जनकपुर रेलखंड पर ट्रेन सेवा बहाल हो जाएगी। कोंकण के आधिकारिक सूत्रों ने बताया क एग्रीमेंट पेपर प्रोसेस में है। नये साल में एग्रीमेंट पेपर पर हस्तक्षर के बाद कोंकण अपने कर्मियों के द्वारा जयनगर वर्दीवास रेलखंड पर ट्रेन परिचालन शुरू करेगी। साथ साथ नेपाली कर्मी को ट्रेन परिचालन से सम्बंधित प्रशिक्षण भी देंगे। प्रशिक्षित होने के बाद नेपाली कर्मी खुद ट्रेन की परिचालन करेगी। उधर नेपाल के नागरिक भी जल्द ट्रेन सेवा बहाल हो को लेकर उत्सुक है।


18 मई को एडीआरएम, कोंकण के अधिकारी के साथ किया था निरीक्षण :-
कोरोना काल यानी 18 मई को भी समस्तीपुर एडीआरएम मो जफर आलम एवं एजेंसी इरकॉन के अधिकारी ने संयुक्त रूप से रेलखंड का निरीक्षण किया था। और बैठक कर ट्रेन परिचालन से सम्बंधित विभिन्न विन्दुओ पर चर्चा की थी। इससे पहले यानी कोरोना से पूर्व 21 मार्च को समस्तीपुर डीआरएम अशोक महेश्वरी ने भी जयनगर पहुंचकर स्टेशन के निरीक्षण के समय जयनगर वर्दीवास रेलखंड के सम्बंध में अधिकारियों से जानकारी प्राप्त किये थे। तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये थे। लेकिन कोरोना काल की अवधि जैसे जैसे आगे की ओर बढ़ती गई वैसे वैसे जयनगर वर्दीवास रेलखंड पर ट्रेन परिचालन को लेकर चल रही गतिविधियां धीमी पड़ती गई। लेकिन अब दोनो देशो के बीच ट्रेन सेवा बहाल को लेकर गतिविधियां तेज हो गई है।

800 करोड़ की टेंडर इरकॉन को मिला है :-
800 करोड़ से अधिक की लागत से बनी जयनगर वर्दीवास बड़ी रेल लाइन निर्माण कार्य का टेंडर 2011 में इरकॉन को मिला था। 2014 से दोनो देशो के बीच ट्रेन सेवा बन्द है। शुरुआत में प्राक्कलिक राशि 540 करोड़ थी। जो बढ़कर वर्तमान 800 करोड़ से अधिक हो गई है।
तीन फेज में होगी ट्रेन की परिचालन शुरू :-
जयनगर वर्दीवास रेलखंड पर तीन फेज में ट्रेन की परिचालन शुरू होगी। पहले फेज में जयनगर से कुर्था दूसरे फेज में कुर्था से विजलपुरा एवं तीसरे फेज में विजलपुरा से वर्दीवास के बीच मे ट्रेन सेवा बहाल होगी।
स्टेशन की संख्या :- 9 एवं होल्ट की संख्या :- 5

कोंकण अधिकारी एन के वर्मा ने बताया की नये साल में ट्रेन चलाने को लेकर एग्रीमेंट पेपर पर हस्तक्षर होते ही दोनो देशो के बीच ट्रेन सेवा बहाल हो जाएगी। नये साल में ट्रेन सेवा शुरू हो जाएगी।

सुनील कुमार की खबर

Most Popular

Recent Comments