Sunday, October 17, 2021
Home ख़बरें बिहार में कब शुरू होगा 18+ लोगों का वैक्सीनेशन? अभी तय नहीं

बिहार में कब शुरू होगा 18+ लोगों का वैक्सीनेशन? अभी तय नहीं

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि केंद्र सरकार ने लगभग 16 लाख वैक्सीन की स्वीकृति मई महीने के लिए दी है. जैसे ही ये वैक्सीन बिहार को मिल जाएगी उसी दिन से 18 वर्ष के उपर के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू हो जायेगा.

देश भर में वैक्सीनेशन का तीसरा चरण शुरू हो चुका है, लेकिन बिहार में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन कब से शुरू होगा ये अभी तक तय नहीं हो पाया हैं. बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि केन्द्र सरकार ने लगभग 16 लाख वैक्सीन की स्वीकृति मई महीने के लिए दी है जैसे ही ये वैक्सीन बिहार को मिल जाएगी उसी दिन से 18 वर्ष के उपर के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू हो जायेगा.देश भर में वैक्सीनेशन का तीसरा चरण शुरू हो चुका है, लेकिन बिहार में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन कब से शुरू होगा ये अभी तक तय नहीं हो पाया हैं.

उसी दिन से 18 वर्ष के उपर के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू हो जाये

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि केन्द्र सरकार ने लगभग 16 लाख वैक्सीन की स्वीकृति मई महीने के लिए दी है. जैसे ही ये वैक्सीन बिहार को मिल जाएंगी, उसी दिन से 18 वर्ष के उपर के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू हो जायेगा. मंगल पांडे ने इसके लिए कोई तारीख नहीं बताई है. उन्होंने कहा जब वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी तब वैक्सीनेशन की प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी.
मंगल पांडे ने बताया कि टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य विभाग की तरफ से 4165.5 करोड़ का खर्च बताया गया है. जिसमें कैबिनेट की स्वीकृति के बाद 1000 करोड़ स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध करा दिया गया है. बिहार सरकार ने 4400 रेमडेसिविर इंजेक्शन ऑर्डर दिया हैं जिसमें से 27000 इंजेक्शन बिहार के पास उपलब्ध हैं.

रेमडेसिविर मंगा कर ब्लैक कर दिया जाता है

जिसे राज्य के विभिन्न जिलों में भेजा गया है. स्वास्थ्य मंत्री का मानना है कि रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ध होने के बाद अब इसकी कमी नहीं होगी. हॉस्पिटल मरीजों की जरूरत के हिसाब से ड्रग कंट्रोलर से इंजेक्शन की मांग करते हैं और उसे उपलब्ध करा दिया जा रहा है. हालांकि कई मरीजों ने ये शिकायत भी है कि उनके नाम पर रेमडेसिविर मंगा कर ब्लैक कर दिया जाता है. मंत्री ने इस पर संज्ञान लेते हुए कहा कि इस व्यवस्था को और पारदर्शी बनाया जायेगा.
बिहार में अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी लगातार बनी हुई है, लेकिन मंगल पांडे ने कहा कि उनकी सरकार ने ऑक्सीजन की उपलब्धता के लिए काफी काम किया है. बिहार में पहले से 11 ऑक्सीजन प्लांट कार्यरत थे.

ऑक्सिजन की कमी दूर होगी

वहीं 8 और नए रिफिलिंग प्लांट को चालू कराया गया है. समस्तीपुर में एक हफ्ते में एक और प्लांट शुरू हो जायेगा. उन्होंने कहा कि 15 अप्रैल 21 को बिहार में 16 मीट्रिक टन उत्पादन था अब ये बढ़कर 100 मीट्रिक टन हो गया है. उन्होंने कहा कि अगले कुछ दिनों में ये 132 मीट्रिक टन हो जायेगा. केन्द्र सरकार ने 194 मीट्रिक टन का कोटा बढ़ा कर 210 मीट्रिक टन कर दिया हैं इससे ऑक्सिजन की कमी दूर होगी. मंगल पांडे ने बताया कि बिहार के 10 मेडिकल कालेजों में ऑक्सीजन प्लांट महीने में लगा दिया जायेगा. जबकि पटना के पीएमसीएच और एनएमसीएच में ये एक महीने में शुरू हो जायेगा. स्वास्थ्य मंत्री ने बिहार में डाक्टरों और पैरा मेडिकल के रिक्त पदों पर भर्ती की प्रक्रिया शुरू होने की बात भी बताई.

Most Popular

Recent Comments