Sunday, October 17, 2021
Home ख़बरें सरकारी स्कूल से गायब रहने वाले बिहार के मास्टरों की अब खैर...

सरकारी स्कूल से गायब रहने वाले बिहार के मास्टरों की अब खैर नहीं, नीतीश सरकार का बड़ा फैसला

सरकारी स्कूलों में अब गुरुजी की मनमानी नहीं चलेगी। पढ़ाई से लेकर व्यवस्था की कड़ी निगरानी होगी। इसके लिए स्कूल से लकर प्रखंड स्तर पर रिपोर्ट तैयार की जाएगी और फिर इस रिपोर्ट की क्रास चेकिंग भी होगी। कहीं से भी पढ़ाई में बाधा नहीं आए इसे लेकर विशेष व्यवस्था बनाई जा रही है।

हर दिन की रिपोर्ट को लेकर विभाग ने फार्मेट जारी कर दिया है। स्कूल और संकुल के साथ प्रखंड स्तर पर रिपोर्ट विभाग को हर दिन नर्धारित समय पर भेजी जाएगी। जिला शिक्षा पदाधिकारी (DEO) अमित कुमार का कहना है कि विद्यालय के संचालन की हर दिन रिपोर्ट मांगी गई है।

स्कूलों को देनी है यह रिपोर्ट

बिहार विद्यालय परियोजना पटना की तरफ से हर दिन स्कूलों से आने वाली रिपोर्ट को लेकर जो फाॅर्मेट दिया गया है। उसके अनुसार हर दिन विद्यालय में पदास्थापित अध्यापकों की संख्या, विद्यालय में उपस्थित टीचरों की संख्या और अनाधिकृति रूप से अनुपस्थित शिक्षकों की संख्या देनी होगी। टीचरों के अनुपस्थित होने से संबंधित पूरी जानकारी देनी होगी। इसके साथ स्कूल में नामांकित छात्रों की संख्या वर्ग वार देने के साथ उपस्थिति का डेटा भी वर्गवार देना है।

बाढ़ से प्रभावित है तो भी देना होगा डिटेल

रिपोर्ट के फॉर्मेट में यह भी कहा गया है कि बाढ़ के पानी के कारण या बाढ़ राहत केंद्र के कारण विद्यालय में कक्षा का संचालन बाधित हो तो उसे भी स्पष्ट करना है। यह पूरा डिटेल प्रधानाध्यापक की तरफ से देना होगा। ऐसा ही एक फार्मेट संकुल तरफ से भी देना होगा। संकुल प्रभारी को भी स्कूलों की पूरी रिपोर्ट बनाकर भेजना होगा। स्कूलों को 11 बजे दिन में हर दिन यह रिपोर्ट संकुल को भेज देना है जबकि संकुल से दिन में दो बजे इस रिपोर्ट को प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को भेजा जाएगा।

शिक्षकों की मनमानी की होगी समीक्षा

सुबह 10 बजे तक जिला कार्यक्रम पदाधिकारी प्राथमिक शिक्षा एवं सर्व शिक्षा अभियान के ई – मेल diopatna@gmail.com या whatsapp no 8544411739 पर उपलब्ध कराना होगा। प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी, विद्यालय अवर निरीक्षक द्वारा अनधिकृत रूप से अनुपस्थित शिक्षक से स्पष्टीकरण पूछते हुए 4 दिनों के अन्दर समीक्षा कर अपनी अनुशंसा के साथ जिला कार्यक्रम पदाधिकारी प्राथमिक शिक्षा एवं सर्व शिक्षा अभियान को प्रतिवेदन अलग से भेजेंगे। जिला कार्यक्रम पदाधिकारी द्वारा दैनिक प्रतिवेदन का समीक्षाकर करेंगे।

जिला स्तर पर तैयार होगी रिपोर्ट

एक फार्मेट जिला स्तर पर भी तैयार होगा जिसमें हर दिन की रिपोर्ट होगी। इसमें अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित शिक्षक के संबंध में प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी, विद्यालय अवर निरीक्षक से प्राप्त होने वाले प्रतिवेदन को भी समीक्षा के बाद जिला शिक्षा पदाधिकारी के सामने प्रस्तुत करना होगा जिसपर कार्रवाई की जाएगी।

source : Daily Bihar

Most Popular

Recent Comments